+91-9958092962, +91-7017123724

An ISO 9001: 2008 Certified Board

भारतीय स्वास्थ्य शिक्षा एवं अनुसंधान परिषद
Health Education & Resarch Council Of India

(Central Council for Health Science, Established under Constitution of India) Incorporated Under the Legislation of Govt. of India

Latest News

Bogus HERCI Registrar LOVEDEEP SHARMA Arrested by Ghaziabad Police Money Laundering/Hawala/Bogus Degrees

GHAZIABAD POLICE has arrested one Lovedeep Sharma in connection with Hawala Transactions. He claimed to be Registrar of HERCI.
Please see attached News in the Times of India.
Few facts regarding this Lovedeep Sharma are as under:
1. He did his Diploma in Physiotherapy from HERCI in 2007. His fee to the tune of Rs 31,000/- is pending till date.
2. Another organisation by the Name & Style of "The Health Education & Research Council of India" was started by One Mr Anjum from Bihar in 2010.
3. In the year 2014, he handed over the Organisations Head Officice to Dr Jawahar Lal Raina.
4. Dr Raina, Secretary of Regional Academic & professional Training Institute started managing the affairs of THERCI at his own expenses and that of RAAPTI.
5. Said Lovedeep Sharma in connivance with Ali Anjum, took control of herci.edu.in, the website which we had decided to disband and started claiming HERCI to be his organisation.
6. A bogus HERCI "Degree" was presented by Lovedeep Sharma, which he perhaps got from Ali Anjum, to authorities in the USA.
7. In view of Hawala/Money Laundering charges against Lovedeep Sharma in connivance with Ali Anjum, we have decided to cut off all our relations with both of them and their bogus THERCI.
8. It has come to our notice that they are inciting our Study Centres and giving them misinformation, etc.
Through this communique of our, we hereby declere & warn that we have no relations with Lovedeep Sharma, Ali Anjum or their bogus THERCI, their Money Laundering, Hawla or any other illegal activities, whatsoever. anyone dealing with them will be doing so at their own risk & responsibility, whatsoever.

For details please see attachment....
**************************************************************************************************************
Email Trail from Ali Anjum thru Lovedeep Sharma & Back is enough to prove that they have been getting their students result online from Dr Jawahar Laal Raina on www.herci.in
**************************************************************************************************************
Below we are reproducing News from Times of India:
ओला कैब से रुपये लेकर हापुड़ जा रहे थे दोनों आरोपी-
आरोपियों का दावा निजी संस्था का है पैसा।
पुलिस हिरसात में पूछताछ के दौरान आरोपी लवदीप शर्मा ने बताया कि वह हेल्थ एजुकेशन एंड रिसर्च काउंसिलंग ऑफ इंडिया के रजिस्ट्रार हैं। पूरा पैसा संस्था का है। इसकी पूरी जानकारी उनके पास है।
गड़बड़झाला...09-12-2016- सूचना मिलने पर पुलिस व IT टीम ने कौशांबी में दबोचा-दोनों पर कई दिनों से ब्लैक मनी को खपाने का आरोप-पुलिस का कहना, ये रुपये हापुड़ में आढतियों से लाए थे एनबीटी न्यूज, कौशांबीइंदिरापुरम पुलिस व इनकम टैक्स की टीम ने शुक्रवार देर रात करीब 27.84 लाख रुपये के साथ 2 आरोपियों को दबोचा। आरोपियों के पास से बरामद कैश में करीब 20 लाख रुपये 2 हजार और 500 की नई करंसी में हैं, जबकि अन्य रकम पुराने नोट में है। पुलिस और इनकम टैक्स की टीम दोनों आरोपियों को हिरासत में लेकर बरामद रुपयों के बारे में पूछताछ कर रही है। बताया जा रहा है कि दोनों आरोपियों ने हापुड़, दिल्ली-गाजियाबाद के अलग अलग हिस्सों से रकम इकट्ठा की थी।ओला कैब से जा रहे थे हापुड़एसएचओ इंदिरापुरम बी.आर. जैदी ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों की पहचान डॉ. लवदीप शर्मा (फिजियोथेरेपिस्ट) और अमित (ट्यूटर) के रूप में हुई है। दोनों राजेंद्र नगर के रहने वाले हैं। शुक्रवार शाम करीब 5 बजे इनकम टैक्स के अफसरों से सूचना मिली थी कि दोनों आरोपी ओला कैब में अवैध रूप से मोटी रकम लेकर कौशांबी से हापुड़ जा रहे हैं। सूचना के आधार पर पुलिस ने कौशांबी में चेकिंग अभियान चलाया और कैब रुकवाई। कार की चेकिंग करने पर उसमें से 14 लाख 84 हजार रुपये दो-दो हजार रुपये के नोट में, करीब साढ़े पांच लाख रुपये 500 के नए नोट में मिले। इसके अलावा टीम ने लाखों की पुरानी करंसी सहित कुल 27.84 लाख रुपये कार से बरामद किए। हापुड़ मंडी के अढतियों से ली गई थी रकमपुलिस जांच में पता चला है कि दोनों युवक रुपयों को हापुड़ अनाज मंडी में आढतियों से एकत्र कर लाए थे। दरअसल आढतियों का करंट अकाउंट होने के कारण आसानी से पुरानी करंसी नई करेंसी में बदल जाती है। पुलिस और इनकम टैक्स की टीम अब जांच कर रही है कि काले धन को सफेद करने में किस आढ़ती ने कितने प्रतिशत का कमीशन लिया है। आरोप है कि पकड़े गए आरोपी इसके एवज में दोनों पार्टी से 30 से 40 प्रतिशत तक कमीशन वसूल रहे थे। हालांकि करीब 1 घंटे की पूछताछ में ऐसा कोई सबूत नहीं मिला, जिस आधार पर यह स्पष्ट हो सके कि दोनों आरोपी कमीशन के आधार पर रुपयों को सप्लाई कर रहे थे।आरोपियों का दावा निजी संस्था का है पैसापुलिस हिरसात में पूछताछ के दौरान आरोपी लवदीप शर्मा ने बताया कि वह हेल्थ एजुकेशन एंड रिसर्च काउंसिलंग ऑफ इंडिया के रजिस्ट्रार हैं। पूरा पैसा संस्था का है। इसकी पूरी जानकारी उनके पास है। फिलहाल पुलिस ने बरामद रुपयों को सील कर दिया है। पुलिस और इनकम टैक्स अधिकारी जांच के बाद ही आगे की कार्रवाई करेंगे।पुलिस से बचने के लिए लिया ओला कैब का सहारासीओ इंदिरापुरम अनिल कुमार ने बताया कि जांच में पता चला है कि हिरासत में लिए दोनों आरोपी कई दिनों से काले धन को सफेद करने में लगे हुए हैं। पुलिस और इनकम टैक्स विभाग को इसकी भनक लगी हुई थी। किसी को शक न हो इसलिए दोनों ने ओला कैब का सहारा लिया था। क्या कहते हैं अधिकारीइनकम टैक्स की टीम ने बरामद करंसी को सील कर दिया है। पुलिस और इनकम टैक्स की टीम दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है। रुपये को लाने और ले जाने वाले सभी पॉइंट की जांच की जा रही है। -अनिल कुमार, सीओ इंदिरापुरम
हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए NBT के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।
मोबाइल ऐप डाउनलोड करें और रहें हर खबर से अपडेट।